West Bengal News Suvendu Adhikari touched Mamata feet CM proposed to make BJP MLA Economist Ashok Lahiri the Finance Minister | शुभेंदु ने ममता के छूए पांव, BJP MLA अशोक लाहिड़ी को वित्त मंत्री बनाने का CM ने दिया प्रस्ताव!

पश्चिम बंगाल की राजनीति में सीएम ममता बनर्जी और नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी की मीटिंग को लेकर अटकलें तेज हैं. इस बैठक को लेकर राजनीतिक कयास लगाये जा रहे हैं.

शुभेंदु ने ममता के छूए पांव, BJP MLA अशोक लाहिड़ी को वित्त मंत्री बनाने का CM ने दिया प्रस्ताव!

फोटोः शुभेंदु अधिकारी और ममता बनर्जी.

Image Credit source: Tv 9 Bharatvarsh

पश्चिम बंगाल में सीएम ममता बनर्जी और नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी की मीटिंग को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है. समाचार सूत्रों के अनुसार विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने संविधान दिवस पर मुख्यमंत्री से विधानसभा कक्ष में मुलाकात के दौरान पैर छू कर प्रणाम किया. ममता बनर्जी के बुलावे पर शुभेंदु अधिकारी उनके विधानसभा स्थित कक्ष में चाय पीने पहुंचे थे. दोनों के बीच तीन से चार मिनट की बैठक हुई. हालांकि विधानसभा की कार्यवाही शुरू हो जाने के कारण वे चाय नहीं पी सके.

नंदीग्राम विधायक शुभेंदु अधिकारी का विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार आमने-सामने मुलाकात हुई थी. लंबे समय बाद उनसे मिलने के बाद उन्होंने सम्मान दिखाया. शुभेंदु अधिकारी ही नहीं बीजेपी विधायक अग्निमित्रा पॉल ने भी इस दिन ममता बनर्जी को प्रणाम किया.

सीएम ने चाय पर बुलाया, पर नहीं चाय नहीं पी सके

लगभग तीन मिनट तक विपक्ष के नेता ममता बनर्जी के कमरे में रहे. उनके साथ भाजपा के तीन विधायक मनोज तिग्गा, अग्निमित्रा पॉल और अशोक लाहिड़ी थे. इस मुलाकात को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. इस बैठक में क्या हुई. इसे लेकर लगातार अटकलें लगाई जा रही हैं. हालांकि इस बारे में सार्वजनिक रूप से किसी ने कुछ नहीं कहा, लेकिन सूत्रों के मुताबिक ममता बनर्जी ने उस दिन उन्हें अपने कक्ष में चाय के लिए बुलाया था, लेकिन इसके साथ ही दोपहर के भोजन के बाद का सत्र शुरू हो गया था. इस कारण वे चाय नहीं पी सके और बिना चाय पिये वे सभी बाहर आ गए.

बीजेपी विधायक अशोक लाहिड़ी को वित्त मंत्री बनाने का दिया प्रस्ताव

सूत्रों का कहना है कि ममता बनर्जी ने बीजेपी विधायक अशोक लाहिड़ी से कहा, ”आप हमारी पार्टी में आइए, मैं आपको वित्त मंत्री बनाऊंगी.” यह सुनकर शुभेंदु अधिकारी ने जवाब दिया, “आपको कुछ नहीं देना है, केवल पीएससी दे दें. ‘ बीजेपी का दावा है कि परंपरा के मुताबिक उनके विधायक को पद दिया जाना चाहिए. सबसे पहले मुकुल रॉय को उस कमेटी का चेयरमैन बनाया गया था और इस बार वह पद विधायक कृष्णा कल्याणी को दिया गया है, जो बीजेपी छोड़कर टीएमसी में शामिल हुए हैं. बीजेपी को इस पर आपत्ति है. बता दें कि अशोक लाहिड़ी प्रसिद्ध अर्थशास्त्री हैं और वह केंद्र सरकार के आर्थिक सलाहाकर रह चुके हैं और कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं.

मुलाकात को शुभेंदु ने बताया राजनीतिक शिष्टाचार

बाद में पत्रकारों से मुलाकात के दौरान शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के साथ उनकी शिष्टाचार मुलाकात हुई थी. उन्होंने कहा, “यह शिष्टाचार भेंट थी. बीच में और कुछ नहीं है. मैं अकेला नहीं गया था, मेरे साथ तीन लोग थे. बाद में मुख्यमंत्री ने भी कहा, “मैंने शिष्टाचार भेंट के लिए बुलाया था. चूंकि यह संविधान दिवस है, ताकि हम मिलकर विकास के कार्यों को आगे बढ़ा सकें.”

ये भी पढ़ें



ममता-शुभेंदु की बैठक से राजनीतिक अटकलें तेज

बहरहाल, विपक्षी दल के नेता इस मुलाकात को कितना भी शिष्टाचार क्यों न कहें, राजनीतिक विश्लेषक चुनाव के डेढ़ साल के बाद ममता-शुभेंदु की अचानक हुई मुलाकात के अलग मायने निकाल रहे हैं. बैठक के बाद शुभेंदु ने जल्दबाजी में विधायकों की बैठक बुलाई हैं. जानकार सूत्रों का कहना है कि शुभेंदु ने पार्टी विधायकों को चेतावनी दी है कि बैठक के संदर्भ में कोई अतिशयोक्ति नहीं होनी चाहिए और अतिरिक्त कमजोरी का खुलासा नहीं किया जाना चाहिए. बाद में अगर सरकार को कोई सहयोग चाहिए तो अशोक लाहिड़ी उस मामले को देखेंगे. बैठक में इस पर चर्चा हुई.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *