UP police arrested liquor smuggler sent to Bihar by crossing the river | नदी पार कर बिहार भेज रहे थे अवैध शराब, यूपी पुलिस ने तस्कर को धर दबोचा

पुलिस को देखकर शराब तस्कर साइकिल मोड़ कर भागने लगा. शक होने पर उसको पकड़ कर उसकी तलाशी ली गई, तो उसके पास से 3 पेटी देशी शराब और एक पेटी अंग्रेजी शराब बरामद हुई.

नदी पार कर बिहार भेज रहे थे अवैध शराब, यूपी पुलिस ने तस्कर को धर दबोचा

जोरों पर चल रही है शराब तस्करी.

Image Credit source: TV9 Network

बिहार के छपरा जिले में हुए शराब कांड के बाद भी अंतरराज्यीय शराब तस्कर सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. बिहार में अभी शराब तस्करी जोरों पर चल रही है. कर्मनाशा नदी का जलस्तर घटने के बाद अब नदी को पार करके शराब तस्करी की जा रही है. पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जा रहा है. गाजीपुर के गहमर थाना अंतर्गत देवल पुलिस ने अंतरराज्यीय शराब तस्कर को मुखबिर की सूचना पर शराब के साथ धर दबोचा है.

देवल के चौकी इंचार्ज राम कुमार दुबे अपनी यूनिट के साथ क्षेत्र में भ्रमण कर रहे थे. तभी मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि एक व्यक्ति साइकिल से शराब लेकर बिहार जाने की फिराक में है. मुखबिर के बताए पते पर पुलिस को लहना देवल नहर के पास से संदिग्ध व्यक्ति साइकिल से आता दिखा. पुलिस को देखकर वह साइकिल मोड़ कर भागने लगा. शक होने पर उसको पकड़ कर उसकी तलाशी ली गई, तो उसके पास से 3 पेटी देशी शराब (कुल 135 पाउच ब्लू लाइम) व एक पेटी अंग्रेजी शराब 8pm बरामद हुई. पकड़े गए शराब तस्कर को देवल चौकी लाया गया.

पुलिस और भी शराबतस्करों की छानबीन में जुटी

इस मामले की अधिक जानकारी देते हुए चौकी इंचार्ज ने स्थानीय मीडिया को बताया कि मुखबिर द्वारा सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति साइकिल से शराब लेकर जा रहा है. मुखबिर के बताए पते पर पहुंचने पर साइकिल पर बोरे में बांध कर तस्कर, शराब ले जा रहा था. उसकी तलाशी लेने पर उसके पास से भारी मात्रा में शराब मिली है. पूछताछ में शराब तश्कर ने अपना नाम अवधेश चौहान, निवासी ग्राम जमौली, थाना राजपुर, जिला बक्सर (बिहार) बताया है. पुलिस उसके बाकी नेटवर्क की छानबीन में भी जुट गई है.

ये भी पढ़ें

बिहार में जहरीली शराब से 70 लोगों की मौत

बता दें कि पिछले दिनों ही बिहार में जहरीली शराब पीने से 70 लोगों की मौत हो गई. बिहार में नीतीश कुमार ने पूर्ण शराबबंदी की हुई है. इसके बावजूद में शराब की तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं. राज्य में शराब पीने वालों की संख्या भी कम नहीं है. जहरीली शराब पीने से इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो जाने से नीतीश सरकार पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. भाजपा समेत अन्य पार्टियों ने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. वहीं, नीतीश कुमार ने शराब पीने से हुई मौतों पर मुआवजा देने से साफ इनकार कर दिया है. साथ ही दोषियों पर शख्त कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *