Top five Indian states for ease of doing business RBI Report reveals | भारत में नया बिजनेस करना कहां कितना आसान? ये हैं Top-5 राज्य

नए बिजनेस के लिए मुफीद राज्यों में दूसरा नंबर है, उत्तर प्रदेश का. 2016 की तुलना में यूपी ने 2019 में बड़ी उछाल लगाई थी और यह लगातार 2022 में भी दूसरे नंबर पर बना हुआ है.

TV9 Bharatvarsh | Edited By: निलेश कुमार

Updated on: Nov 25, 2022, 8:32 AM IST

नया बिजनेस शुरू करने के लिहाज से भारत के कुछ राज्‍यों में बहुत बेहतर माहौल है. आरबीआई ने हाल ही में हैंडबुक ऑफ स्‍टैटिस्टिक्‍स ऑन इंडियन स्‍टेट्स जारी की है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत के कौन-से राज्‍य आसानी से उद्योग-धंधे लगाने के लिए मुफीद हैं.

नया बिजनेस शुरू करने के लिहाज से भारत के कुछ राज्‍यों में बहुत बेहतर माहौल है. आरबीआई ने हाल ही में हैंडबुक ऑफ स्‍टैटिस्टिक्‍स ऑन इंडियन स्‍टेट्स जारी की है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत के कौन-से राज्‍य आसानी से उद्योग-धंधे लगाने के लिए मुफीद हैं.

आसानी से उद्योग-धंधे लगाने के मामले में पहले नंबर पर है- आंध्र प्रदेश. 2016 और 2019 में भी आंध्र प्रदेश की रैंक वन ही रही थी.

आसानी से उद्योग-धंधे लगाने के मामले में पहले नंबर पर है- आंध्र प्रदेश. 2016 और 2019 में भी आंध्र प्रदेश की रैंक वन ही रही थी.

नए बिजनेस के लिए मुफीद राज्‍यों में दूसरा नंबर है, उत्तर प्रदेश का. 2016 की तुलना में यूपी ने 2019 में बड़ी उछाल लगाई थी और यह लगातार 2022 में भी दूसरे नंबर पर बना हुआ है.

नए बिजनेस के लिए मुफीद राज्‍यों में दूसरा नंबर है, उत्तर प्रदेश का. 2016 की तुलना में यूपी ने 2019 में बड़ी उछाल लगाई थी और यह लगातार 2022 में भी दूसरे नंबर पर बना हुआ है.

इस लिस्‍ट में तीसरा रैंक है तेलंगाना का. 2016 में यह राज्‍य नंबर वन पर था. 2019 में तीसरे नंबर पर खिसक गया और 2022 में भी इसकी रैंकिंग नहीं सुधर पाई है.

इस लिस्‍ट में तीसरा रैंक है तेलंगाना का. 2016 में यह राज्‍य नंबर वन पर था. 2019 में तीसरे नंबर पर खिसक गया और 2022 में भी इसकी रैंकिंग नहीं सुधर पाई है.

मध्‍य प्रदेश इस लिस्‍ट में चौथे नंबर पर है. 2016 में एमपी पांचवे नंबर पर था. 2019 में एक रैंक सुधरा और 2022 में यही रैंक जारी है.

मध्‍य प्रदेश इस लिस्‍ट में चौथे नंबर पर है. 2016 में एमपी पांचवे नंबर पर था. 2019 में एक रैंक सुधरा और 2022 में यही रैंक जारी है.

झारखंड ने भी टॉप-5 में अपनी पोजीशन बचाए हुए है. 2016 और 2019 की तरह इस वर्ष भी झारखंड पांचवें नंबर पर है.

झारखंड ने भी टॉप-5 में अपनी पोजीशन बचाए हुए है. 2016 और 2019 की तरह इस वर्ष भी झारखंड पांचवें नंबर पर है.


Most Read Stories

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *