The gang members send fake ed notice to big companies, Delhi police crime branch arrested nine accused | ED का फर्जी नोटिस भेजकर करता था वसूली, मास्टर माइंड सहित गैंग के 9 लोग गिरफ्तार

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गैंग के मास्टर माइंड समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन लोगों में नेता, पुलिसकर्मी और अन्य आरोपी शामिल हैं. पुलिस अब इस मामले में आगे की जांच कर रही है

ED का फर्जी नोटिस भेजकर करता था वसूली, मास्टर माइंड सहित गैंग के 9 लोग गिरफ्तार

आरोपियो को पुलिस ने किया गिरफ्तार (सांकेतिक तस्वीर)

Image Credit source: फाइल फोटो

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ा है जो प्रवर्तन निदेशालय का फर्जी समन बनाकर बड़ी कंपनियों के मालिकों से उगाही करता था. दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गैंग के मास्टर माइंड समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन लोगों में नेता, पुलिसकर्मी और अन्य आरोपी शामिल हैं. पुलिस अब इस मामले में आगे की जांच कर रही है और पता लगाने कि कोशिश कर रही है कि इस गैंग ने किन-किन लोगों को अपना निशाना बनाया है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को लंबे समय से इस तरह की शिकायत मिल रही थी.

जानकारी के मुताबिक इस गिरोह ने ED का फर्जी समन मुंबई के एक बड़े बिजनेसमैन को भेजा था, जिसके बाद बिजनेसमैन ने शिकायत कर बताया था कि कुछ लोग ईडी का फर्जी नोटिस भेजकर करोड़ों रुपये की मांग कर रहे हैं. इसके बाद दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच एक्शन में आई और गैंग का पर्दाफाश करते हुए 9 लोगों को पकड़ लिया.

‘स्पेशल 26’ मूवी की तरह करते थे वारदात

यह गिरोह अक्षय कुमार, अनुपम खैर और काजल अग्रवाल अभिनीत बॉलीवुड फिल्म ‘स्पेशल 26’ से प्रेरणा लेकर घटना को अंजाम दे रहे थे. फिल्म में फर्जी सीबीआई रेड कर बड़े-बड़े बिजनेसमैन से करोड़ों की उगाही करते हुए दिखाया गया था. इस गैंग ने मुंबई की एक बड़ी कंपनी को भी ईडी का फर्जी नोटिस भेजा था. क्राइम ब्रांच के स्पेशल कमिश्नर रवीन्द्र यादव के मुताबिक पकड़े गए आरोपी अखिलेश मिश्रा, दर्शन हरीश जोशी, विनोद कुमार पटेल, धर्मेंद्र कुमार गिरी, नरेश महतो, असरार अली, विष्णु प्रसाद, देवेंद्र कुमार दुबे और गजेंद्र हैं.

दरअसल नवी मुंबई के रहने वाले हरिदेव सिंह निप्पॉन इंडिया पेंट्स लिमिटेड के अध्यक्ष हैं. उनको ईडी की तरफ से दो नोटिस मिले. उनके सहयोगी को अखिलेश मिश्रा ने बताया कि ईडी ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है और जल्द ही वे मुसीबत में होंगे. वह उनको दिल्ली में ईडी कार्यालय में अपने संपर्क के जरिए मुसीबत से निकालने में मदद कर सकता है. जिसके बाद शिकायतकर्ता को आशंका के साथ-साथ संदेह भी हुआ.

आरोपियों ने की 20 करोड़ रुपये की मांग

शिकायतकर्ता को फिर वही नोटिस स्पीड पोस्ट के माध्यम से मिला. उन्होंने आरोपी व्यक्तियों से संपर्क किया. आरोपियों ने शुरू में 2-3 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी और आगे दिल्ली में 9 से 14 नवंबर के बीच मिलने के लिए कहा. आरोपी अखिलेश मिश्रा, उनके बेटे और दर्शन हरीश जोशी ने कई बार अलग-अलग मोबाइल नंबरों से शिकायतकर्ता से संपर्क करने की कोशिश की और उन्हें ईडी का भय दिखाया. जिसके बाद शिकायतकर्ता ने फोन पर बात की और इस नोटिस को रद्द करने का अनुरोध कर पैसे देने की बात कही.

ये भी पढ़ें



इस पर आरोपी ने समझौता करने के लिए मिलने पर जोर दिया. शिकायतकर्ता ने 12 नवंबर 2022 को आरोपियों अखिलेश मिश्रा और दर्शन हरीश जोशी से मुंबई हवाई अड्डे के गेट नंबर दो पर मुलाकात की. आरोपियों ने पीड़ित से 20 करोड़ रुपये मांगे. जिसके बाद पीड़ित ने पुलिस को सूचना दे दी.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *