Sanjay Raut slams karnataka cm basavraj bommai over border dispute after his challenge to maharashtra dy cm devendra fadnavis | ‘चेतावनी नहीं, धमकी समझो, महाराष्ट्र पर आंख उठा कर देखा तो…’, राउत ने कर्नाटक के CM को ललकारा

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद भड़क उठा है. कल महाराष्ट्र के सांगली के जत तालुका के 40 गांवों पर दावा करने के बाद आज सीएम बोम्मई ने सोलापुर और अक्कलकोट पर भी दावा किया है. इस पर राउत ने धमकी दे डाली है.

'चेतावनी नहीं, धमकी समझो, महाराष्ट्र पर आंख उठा कर देखा तो...', राउत ने कर्नाटक के CM को ललकारा

संजय राउत (फाइल फोटो)

Image Credit source: टीवी 9

कल कर्नाटक के सीएम बासवराज बोम्मई ने महाराष्ट्र के सांगली के जत तालुका के 40 गांवों पर दावा किया था और कहा था कि वहां के लोग कर्नाटक में शामिल होना चाहते हैं. इसके बाद महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि एक भी गांव नहीं देंगे उल्टा कर्नाटक के बेलगाम, कारवार, निपाणी जैसे सीमावर्ती भागों को महाराष्ट्र में लेने की कार्रवाई की जाएगी. इसे चेतावनी समझते हुए आज (गुरुवार, 24 नवंबर) फिर कर्नाटक के सीएम ने एक ट्वीट कर महाराष्ट्र के जज्बात को भड़का दिया. संजय राउत ने इस पर बेहद कड़े शब्दों में प्रतिक्रिया दी है.

सीएम बासवराज बोम्मई ने आज एक ट्वीट कर महाराष्ट्र के कन्नड़ भाषी लोगों के ज्यादा तादाद वाले अक्कलकोट और सोलापुर इलाके को कर्नाटक में शामिल करने की बात कह डाली और कहा कि कर्नाटक के एक ईंच जमीन भी देने का तो सवाल ही नहीं उठता. उन्होंने कहा कि फडणवीस का यह सपना कभी पूरा नहीं होगा.

‘गुजरात उद्योग ले जा रहा, कर्नाटक हमारे गांव ले जाने की बात कर रहा’

इस पर आज अपनी प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे गुट के सांसद संजय राउत ने कहा, ‘यह हो क्या रहा है. गुजरात हमारे यहां से उद्योग ले जा रहा है. कर्नाटक हमारे गांव और जिले ले जाने की बात कर रहा है. महाराष्ट्र की यह मिंधे (दुर्बल) सरकार क्या कर रही है? कर्नाटक के सीएम को मैं चेतावनी नहीं, धमकी दे रहा हूं…हां, इसे धमकी समझो. अपनी बकबक बंद करो. ये लूंगा, वो लूंगा की भाषा पर लगाम दो. भले ही महाराष्ट्र की सरकार सिलेंडर सर पर उठा घुटनों के बल बैठ गई है, लेकिन शिवसेना स्वाभिमान के साथ ठाकरे के नेतृत्व में खड़ी है, यह याद रखना.’

‘कहां गया 40 विधायकों के गुट का स्वाभिमान, गोबर में घुस गया?’

आगे राउत ने कहा, ‘वो 40 विधायकों का गुट (शिंदे) है ना. कहा था कि स्वाभिमानी महाराष्ट्र के लिए शिवसेना से बाहर आए. अब कहां गया आपका स्वाभिमान? कहां गोबर में घुस गया? एक मुख्यमंत्री गांव ले जाने की बात कर रहा, एक उद्योग उठा कर ले जा रहा. और आप बस बैठ कर तमाशा देख रहे हैं? सिर्फ कहने भर से होगा, कि एक गांव भी जाने नहीं देंगे?’

बार-बार कर्नाटक की सीमा में जाऊंगा, शिवसेना XX की औलाद नहीं

शिवसेना के ठाकरे गुट के सांसद ने कहा, ‘मैं बार-बार महाराष्ट्र-कर्नाटक के सीमावर्ती भागों में जाता रहा हूं. फिर जाऊंगा. मैं XX नहीं (गाली), शिवसेना XX की औलाद नहीं. शिंदे अब तक कर्नाटक के उन सीमावर्ती भागों में क्यों नहीं गए? उन्हें सीमावर्ती भागों की जिम्मेदारियां दी गई थीं. वे कितनी बार कर्नाटक गए? कितने मंत्री बेलगाम, निपाणी, कारवार, खानापुर, भालकी गए? चंद्रकांत पाटील कर्नाटक जाकर कन्नड़ में राष्ट्रगान गाकर आए. हमारे जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा काम किया. लेकिन हम लड़ेंगे.’

शिंदे सरकार तंत्र-मंत्र-ज्योतिष के चक्कर में, महाराष्ट्र का भविष्य अधर में

संजय राउत ने कहा महाराष्ट्र की मिंधे (दुर्बल शिंदे) सरकार कर्मकांड, तंत्र-मंत्री, ज्योतिष में उलझी हुई है और कर्नाटक के सीएम महाराष्ट्र के जख्मों पर नमक छिड़क रहे हैं. अब तक किसी मुख्यमंत्री ने ऐसी हिम्मत नहीं की थी. ऐसी साजिश रची जा रही है क्या कि महाराष्ट्र को नक्शे से मिटाना है. उद्योग गुजरात ले जाना है और गांव, जिले कर्नाटक ले जाने की ठाना है? बीजेपी के लोग छत्रपति शिवाजी महाराज पर बयान दे रहे हैं. हमारे स्वाभिमान को चुनौती दी जा रही है. परदे के पीछे बड़ी साजिश रची जा रही है. संयुक्त महाराष्ट्र के आंदोलन में 106 लोगों ने शहादत दी. शिवसेना ने 69 शहादतें दीं. हम और खून देंगे. जेल भोगेंगे. हमें इसका डर नहीं.’

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *