Rishabh pant bowled on 15 runs vs new zealand vs india 1st odi auckland | ऋषभ पंत का अपना बल्ला ही बना उनका ‘दुश्मन’, ऑकलैंड में ऐसे हुआ ‘द एंड’

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर ऋषभ पंत अब टी20 फॉर्मेट के बाद वनडे फॉर्मेट में भी भारी समस्या में दिख रहे हैं. ऑकलैंड वनडे में उनका बल्ला खामोश रहा.

ऋषभ पंत का अपना बल्ला ही बना उनका 'दुश्मन', ऑकलैंड में ऐसे हुआ 'द एंड'

ऑकलैंड में भी नहीं दिखा पंत का ‘पराक्रम’

Image Credit source: PTI

ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे मैच में ऋषभ पंत नहीं चले. एक बार फिर पंत का अंत बेहद ही कम स्कोर पर हो गया. पंत 23 गेंदों में सिर्फ 15 रन बना सके. ऋषभ पंत के आउट होने का तरीका बेहद दुर्भाग्यपूर्ण रहा. विकेट पर सेट हो चुके पंत बोल्ड हुए. लॉकी फर्गयूसन की गेंद पर उनका अपना बल्ला ही पंत का दुश्मन बन गया. दरअसल पंत ने फर्गयूसन की गेंद को डिफेंस करना चाहा लेकिन बॉल उनके बल्ले का अंदरूनी किनार लेकर विकेटों पर जा लगी.

पंत ने अपनी पारी में दो चौके भी लगा दिए थे और वो क्रीज पर सेट नजर आ रहे थे लेकिन उनकी सधी शुरुआत बड़े स्कोर में तब्दील नहीं हो सकी. बता दें पंत पिछले काफी वक्त से खराब फॉर्म में चल रहे हैं. टी20 फॉर्मेट में तो खराब प्रदर्शन की वजह से उनकी जगह पर ही खतरा मंडराने लगा है वहीं वनडे फॉर्मेट में भी अब खराब फॉर्म दिख रही है. ऑकलैंड का विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा था लेकिन पंत इस मौके को नहीं भुना पाए.

पंत के लिए आसान नहीं आगे की राह

ऋषभ पंत भले ही विकेटकीपर के तौर पर पहली चॉइस हैं लेकिन इशान किशन, संजू सैमसन जैसे खिलाड़ी उनकी जगह लेने को तैयार खड़े हैं. सैमसन ने तो बतौर फिनिशर वनडे क्रिकेट में अच्छा खासा प्रदर्शन भी कर दिया है. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज का वनडे औसत 70 से ज्यादा है. साफ है सैमसन ऐसा ही प्रदर्शन करते रहेंगे तो टीम इंडिया मैनेजमेंट पंत को मौका नहीं देंगे.

ये भी पढ़ें



ऑकलैंड में दूसरे बल्लेबाजों ने क्या किया?

ऑकलैंड में पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद भारतीय टीम ने अच्छी शुरुआत की. कप्तान धवन और शुभमन गिल ने शतकीय साझेदारी की. दोनों के बीच 124 रन जोड़े गए. गिल ने 50 और धवन ने 72 रनों की अहम पारियां खेली. हालांकि सूर्यकुमार यादव अच्छा नहीं कर सके वो महज 4 रन बनाकर आउट हो गए. खबर लिखे जाने तक श्रेयस अय्यर ने भी अर्धशतक लगा दिया था.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *