PM Kisan Yojana PM Kisan 13th installment change in rules of PM Kisan | PM Kisan: 13वीं किस्त का उठाना चाहते हैं लाभ तो फटाफट करें ये काम, वरना कट जाएगा नाम

पीएम मोदी ने 17 अक्टबूर को ही 12वीं किस्त जारी कर दी थी. इस बार उन्होंने 16 हजार करोड़ रुपए जारी किए थे.

TV9 Bharatvarsh | Edited By: वेंकटेश कुमार

Updated on: Nov 18, 2022, 9:21 AM IST

‘पीएम किसान सम्मान निधि’ की 12वीं किस्त जारी होते ही किसानों ने 13वीं किस्त का इंतजार शुरू कर दिया है. लेकिन बहुत सारे किसान 13वीं किस्त का लाभ नहीं उठा पाएंगे. केंद्र सरकार ने पीएम किसान के नियमों में कुछ बदलाव किया है, ताकि अपात्र किसानों का नाम लिस्ट से हटाया जा सके.

‘पीएम किसान सम्मान निधि’ की 12वीं किस्त जारी होते ही किसानों ने 13वीं किस्त का इंतजार शुरू कर दिया है. लेकिन बहुत सारे किसान 13वीं किस्त का लाभ नहीं उठा पाएंगे. केंद्र सरकार ने पीएम किसान के नियमों में कुछ बदलाव किया है, ताकि अपात्र किसानों का नाम लिस्ट से हटाया जा सके.

पीएम मोदी ने 17 अक्टबूर को ही 12वीं किस्त जारी कर दी थी. इस बार उन्होंने 16 हजार करोड़ रुपए जारी किए थे. इससे देश के 8 करोड़ किसानों को फायदा हुआ. वहीं, सरकार ने 11वीं किस्त के लिए 21 हजार करोड़ रुपए जारी किए थे. तब 10 करोड़ किसानों के खाते में पैसे ट्रांसफर हुए थे.

पीएम मोदी ने 17 अक्टबूर को ही 12वीं किस्त जारी कर दी थी. इस बार उन्होंने 16 हजार करोड़ रुपए जारी किए थे. इससे देश के 8 करोड़ किसानों को फायदा हुआ. वहीं, सरकार ने 11वीं किस्त के लिए 21 हजार करोड़ रुपए जारी किए थे. तब 10 करोड़ किसानों के खाते में पैसे ट्रांसफर हुए थे.

वहीं, ई- केवाईसी अनिवार्य करते ही फर्जी किसानों की संख्या में काफी कमी आई. अकेले उत्तर प्रदेश में 21 लाख फर्जी किसानों के नाम काट दिए गए. इसी तरह झारखंड और बिहार में भी कई फर्जी किसानों की पहचान की गई थी.

वहीं, ई- केवाईसी अनिवार्य करते ही फर्जी किसानों की संख्या में काफी कमी आई. अकेले उत्तर प्रदेश में 21 लाख फर्जी किसानों के नाम काट दिए गए. इसी तरह झारखंड और बिहार में भी कई फर्जी किसानों की पहचान की गई थी.

यही वजह है कि  केंद्र सरकार ने पीएम किसान में अनियमितताओं के कई मामलों के उजागर होने के बाद नियम में बदलाव का निर्णय लिया है, ताकि भविष्य में धांधली को रोका जा सके. अब पीएम किसान का लाभ लेने वाले किसानों को पहले अपनी जमीन के कागजातों का सत्यापन कराना होगा. साथ ही इस मामले में लाभार्थी किसानों को अपने भूमि रिकॉर्ड सत्यापित करना होगा. ऐसा नहीं करने पर उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की 13वीं किस्त से वंचित कर दिया जाएगा.

यही वजह है कि केंद्र सरकार ने पीएम किसान में अनियमितताओं के कई मामलों के उजागर होने के बाद नियम में बदलाव का निर्णय लिया है, ताकि भविष्य में धांधली को रोका जा सके. अब पीएम किसान का लाभ लेने वाले किसानों को पहले अपनी जमीन के कागजातों का सत्यापन कराना होगा. साथ ही इस मामले में लाभार्थी किसानों को अपने भूमि रिकॉर्ड सत्यापित करना होगा. ऐसा नहीं करने पर उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की 13वीं किस्त से वंचित कर दिया जाएगा.

केवल राशन कार्ड की कॉपी जमा नहीं करने से आपको पीएम किसान सम्मान निधि नहीं मिलेगी. यदि आप 13वीं किस्त में बंचित होने से बचना चाहते हैं, तो अपने राशन कार्ड की सॉफ्ट कॉपी पीडीएफ प्रारूप में पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट, https://pmkisan.gov.in पर अपलोड कर दें. साथ ही 2000 रुपये राशी प्राप्त करने के लिए लाभार्थी किसानों को अपने आधार कार्ड को भी अपने बैंक खाते से लिंक करना होगा.

केवल राशन कार्ड की कॉपी जमा नहीं करने से आपको पीएम किसान सम्मान निधि नहीं मिलेगी. यदि आप 13वीं किस्त में बंचित होने से बचना चाहते हैं, तो अपने राशन कार्ड की सॉफ्ट कॉपी पीडीएफ प्रारूप में पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट, https://pmkisan.gov.in पर अपलोड कर दें. साथ ही 2000 रुपये राशी प्राप्त करने के लिए लाभार्थी किसानों को अपने आधार कार्ड को भी अपने बैंक खाते से लिंक करना होगा.


Most Read Stories

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *