Nancy Pelosi to step down as top Democrat after Republicans take US House | नैंसी पेलोसी ने डेमोक्रेटिक पार्टी छोड़ने का किया ऐलान, बोलीं- नई संसद में अध्यक्ष पद पर नहीं रहूंगी

पेलोसी ने सदन में कहा कि उन्होंने करीब 20 साल तक डेमोक्रेटिक पार्टी का नेतृत्व करने के बाद इस पद से हटने का फैसला किया है. कैलिफोर्निया से डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता पेलोसी प्रतिनिधि सभा की पहली महिला अध्यक्ष थीं.

नैंसी पेलोसी ने डेमोक्रेटिक पार्टी छोड़ने का किया ऐलान, बोलीं- नई संसद में अध्यक्ष पद पर नहीं रहूंगी

नैंसी पेलोसी का बड़ा ऐलान

Image Credit source: ANI

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने गुरुवार को कहा कि वह नई संसद में अध्यक्ष पद पर नहीं होंगी. मध्यावधि चुनाव में प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन पार्टी की जीत से डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत खत्म हो गया है. पेलोसी के अध्यक्ष पद की दावेदारी से पीछे हटने से नई पीढ़ी के नेताओं के लिए मार्ग प्रशस्त होगा.पेलोसी ने सदन में कहा कि उन्होंने करीब 20 साल तक डेमोक्रेटिक पार्टी का नेतृत्व करने के बाद इस पद से हटने का फैसला किया है.

कैलिफोर्निया से डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता पेलोसी प्रतिनिधि सभा की पहली महिला अध्यक्ष थीं. उन्होंने कहा कि वह सेन फ्रांसिस्को का प्रतिनिधित्व करती रहेंगी. वह 35 साल से सेन फ्रांसिस्को का प्रतिनिधित्व कर रही हैं.

नई पीढ़ी को मिलेगा मौका

पेलोसी पहली बार 2007 में स्पीकर बनीं

नैंसी पेलोसी 1987 में पहली बार कांग्रेस के लिए चुनी गईं. वह पहली बार 2007 में स्पीकर बनीं. पेलोसी अमेरिका की कद्दावर लीडर मानी जाती हैं. वह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बाद दूसरे नंबर की नेता मानी जाती हैं. ट्रंप के खिलाफ खड़े होने वाली वह अकेली महिला थीं. उन्होंने कई मौकों पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. चाहे वह इराक का युद्ध हो या फिर 2008 का आर्थिक संकट. हर मौके पर उन्होंने अपनी ताकत दिखाई.

इसी साल उन्होंने ताइवान की यात्रा कर सबकों चौंका दिया था. चीन की तमाम धमकियों के बाद उन्होंने ताइवान की यात्रा की थी. इस दौरान उन्होंने ताइवान की राष्ट्रपति से मुलाकात की थी. पेलोसी ने पिछले हफ्ते कहा था कि आगे का निर्णय उनके बुजुर्ग पति के कंडीशन पर निर्भर करेगा. बता दें कि पिछले महीने सैन फ्रांसिस्को में पेलोसी के पति पॉल पर उनके घर में हमला हुआ था.

प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन पार्टी को बहुमत

अमेरिका में विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी ने बुधवार को 435 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में मामूली बढ़त के साथ बहुमत हासिल कर लिया. इस बदलाव के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के बाकी बचे दो साल के कार्यकाल में उनकी योजनाओं के क्रियान्वयन में अड़चनें आने की आशंका है. डेमोक्रेटिक पार्टी की 211 सीटों के मुकाबले रिपब्लिकन पार्टी के पास अब 218 सीटें हैं. छह सीटों पर गणना अब भी जारी है. इनके परिणाम आने पर ही अंतिम स्थिति स्पष्ट हो पाएगी. मतदान आठ नवंबर को हुआ था.

रिपब्लिकन पार्टी को मध्यावधि चुनाव के बाद दोनों सदन में बहुमत हासिल करने की उम्मीद थी, लेकिन वह अपनी उम्मीदों के मुताबिक नतीजे हासिल नहीं कर पाई. हालांकि कैलिफोर्निया के 27वें जिले में जीत दर्ज कर उसने प्रतनिधि सभा में बुधवार को बहुमत हासिल कर लिया. रिपब्लिकन पार्टी ने एक दिन पहले ही केविन मैक्कार्थी को सदन में अपना नेता चुना था। मैक्कार्थी डेमोक्रेटिक पार्टी की नैंसी पेलोसी की जगह प्रतिनिधि सभा के नए अध्यक्ष बन सकते हैं. (भाषा से इनपुट के साथ)

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *