Mohan bhagwat bihar visit RSS active after Nitish parted ways with BJP darbhanga | 20 दिन में दूसरी बार बिहार आ रहे मोहन भागवत, नीतीश के BJP से अलग होने के बाद RSS सक्रिय

संघ प्रमुख मोहन भागवत 20 दिनों के अंदर दूसरी बार बिहार दौरे पर आ रहे हैं. संघ पिछले कुछ दिनों से बिहार में लगातार सक्रिय है यही वजह है कि संघ की शाखाओं में लगातार इजाफा हो रहा है.

20 दिन में दूसरी बार बिहार आ रहे मोहन भागवत, नीतीश के BJP से अलग होने के बाद RSS सक्रिय

बक्सर संत समागम में मोहन

Image Credit source: टीवी9 हिंदी

संघ प्रमुख मोहन भागवत एक बार फिर बिहार दौरे पर आ रहे हैं. वह 27 नवंबर को मिथिला प्रवास पर रहेंगे. वो दरभंगा और मधुबनी में संघ से जुड़े कुछ खास कार्यक्रमों में शामिल होंगे. इससे पहले वह 27 नवंबर को बक्सर में आयोजित सनातन संस्कृति समागम में पहुंचे थे. वहीं 6 महीने के अंदर मोहन भागवत का यह दूसरा मिथिला दौरा है. इससे पहले वह जून में वो मधुबनी आये थे. 27 नवंबर को दरभंगा पहुंचने के बाद संघ प्रमुख दरभंगा राज परिवार के अतिथि होंगे और कामेश्वर नगर स्थित रामबाग पैलेस परिसर में रहेंगे.

मोहन भागवत 27 की शाम दरभंगा पहुंचेंगे. वो रात दरभंगा राज परिवार के सदस्य बाबू कपिलेश्वर सिंह के घर ठहरेंगे. 28 की सुबह वो कामेश्वर नगर में स्वयं सेवकों को संबोधित करेंगे. इसके बाद वह मधुबनी के झंझारपुर जायेंगे. बताया जा रहा है कि वहां वह एक शैक्षणिक संस्थान का शिलान्यास करेंगे. हालाकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

बक्सर संत समागम में मोहन भागवत

इससे पहले मोहन भागवत जब बक्सर सनातन संस्कृति समागम में पहुंचे थे तब उन्होंने कहा था- इच्छा पूर्ण करने के लिए कर्म करना पड़ता है पुरुषार्थ करना पड़ता है. त्याग करना पड़ता है. श्री राम ने अपने जीवन में ये सभी कार्य किए हैं. वो चाहते तो एक क्षण में रावण की पूरी सेना को समाप्त कर सकते थे. मगर समाज को संदेश देने के उद्देश्य से श्री राम ने अपने सभी सुखों का त्याग किया. सभी को अपने लक्ष्य हेतु कर्म करना पड़ेगा, कष्ट सहना पड़ेगा तब जाकर राष्ट्र परम वैभव को प्राप्त करेगा. मन में राम रखो जप करो कर्म करो कर्म करो जैसे किसान कर्म करता है तो सभी का भला होता है.

ये भी पढ़ें



बिहार में संघ लगातार सक्रिय

बता दें कि संघ बिहार में पिछले कुछ दिनों से लगातार सक्रिय है और इनकी सक्रियता जमीन पर भी दिख रही है. एक आंकडे के मुताबिक 2021 में जहां 1033 जगहों पर 1406 संघ की शाखाएं लगती थी अब 2022 में 1075 स्थानों पर 1476 संघ की शाखाएं लग रही है. संघ की शाखाओं में बड़ी संख्या में लोग जा रहे हैं. इसके साथ ही संघ राष्टवाद को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्यक्रमों का भी आयोजन कर रही है

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *