Meghalaya Fuel Shortage CM Conrad Sangma said no shortage of petrol diesel in state | असम ने रोकी तेल की सप्लाई तो CM संगमा बोले- मेघालय में पेट्रोल-डीजल की कमी नहीं, न करें स्टॉक

असम पेट्रोलियम मजदूर यूनियन (एपीएमयू) ने मेघालय में ईंधन की सप्लाई बहाल करने का फैसला किया है. इसने यह फैसला टैंकर और उसमें सवार लोगों की सुरक्षा का पड़ोसी राज्य द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद लिया है.

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में पेट्रोल और डीजल की कमी नहीं है. उन्होंने सभी नागरिकों से हड़बड़ी में जरूरी चीज़ों की खरीददारी नहीं करने की अपील की है. सीएम संगमा ने कहा कि उनकी सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाए हैं कि जरूरी चीज़ों के स्टॉक और सप्लाई में कमी न हो. दरअसल संगमा का यह बयान ऐसे समय पर सामने आया है, जब असम में पेट्रोलियम कर्मियों के एक शीर्ष निकाय ने कहा कि उसने पड़ोसी राज्य यानी मेघालय में ईंधन की सप्लाई रोक दी है.

मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मेघालय में पेट्रोल और डीजल की कमी नहीं है. यह सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाये गए हैं कि उनके स्टॉक और सप्लाई में कमी न हो. सभी नागरिकों से अनुरोध है कि वे हड़बड़ी में किसी जरूरी वस्तु की खरीददारी न करें.’ सीएम के इस बयान के बाद गुरुवार दोपहर से लोग ईंधन की कमी के डर के मारे उसे खरीदने में जुट गए हैं और पेट्रोल पंपों पर सैकडों वाहन अपनी बारी के इंतजार में खड़े नजर आ रहे हैं. लिहाजा मेघालय की राजधानी शिलांग तथा राज्य के अन्य हिस्सों में सड़कों पर जाम लग गया है. कुछ पेट्रोल पंपों पर पुलिस अधिकारी वाहनों की आवाजाही नियंत्रित करते देखे गए.

असम ने बहाल की फ्यूल की सप्लाई

हालांकि अब असम पेट्रोलियम मजदूर यूनियन (एपीएमयू) ने मेघालय में फ्यूल की सप्लाई बहाल करने का फैसला किया है. इसने यह फैसला टैंकर और उसमें सवार लोगों की सुरक्षा का पड़ोसी राज्य द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद लिया है. मेघालय में फ्यूल का ट्रांसपोर्टेशन एक दिन पहले रोक दिया गया था. असम में पेट्रोलियम कर्मचारियों के शीर्ष निकाय ने गुरुवार को कहा था कि असम से जा रहे वाहनों पर हमले की खबरों के बाद उसने मेघालय में ईंधन के परिवहन को रोक दिया है. इससे पहले असम-मेघालय सीमा पर हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई थी. इसी हिंसा की पृष्ठभूमि में वाहनों पर कथित हमले हुए हैं.

मेघालय ने दिया सुरक्षाका आश्वासन

एपीएमयू के महासचिव रमन दास ने कहा, ‘हमें मेघालय के प्राधिकारियों से आश्वासन मिला है कि टैंकर, हमारे चालकों और अन्य कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी. हमने उनसे कहा है कि अगर कोई अप्रिय घटना होती है, तो हम वाहनों को फिर तुरंत रोक देंगे.’ उन्होंने कहा कि जिन अन्य शर्तों के तहत परिवहन फिर से शुरू किया गया है, उनमें यह शर्त भी शामिल है कि मेघालय में स्थिति सामान्य होने तक शाम के बाद भरे हुए टैंकर वहां नहीं भेजे जाएंगे. इसके अलावा, हम स्थिति बेहतर होने तक मेघालय में रात भर कोई भरा हुआ टैंकर नहीं रखेंगे. दास ने कहा कि गुवाहाटी में एचपीसीएल बेटकुची डिपो से पेट्रोलियम उत्पादों के साथ सात टैंकर पड़ोसी राज्य के लिए रवाना हो गए हैं. पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन मेघालय (पीडीएएम) ने भी राज्य को ईंधन की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने में सहयोग देने का आश्वासन दिया है.

ये भी पढ़ें



(एजेंसी इनपुट के साथ)

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *