Karnataka Maharashtra border dispute cm basavaraj bommai passe resolution in vidhansabha and slams sanjay raut by saying china agent and anti nationalist | ‘संजय राउत देशद्रोही, चीन के एजेंट’, महाराष्ट्र-कर्नाटक विवाद पर प्रस्ताव रखते हुए बोले सीएम बोम्मई

कर्नाटक विधानसभा में गुरुवार को एकमत से यह प्रस्ताव पास हुआ कि महाराष्ट्र को एक ईंच भी जमीन नहीं दी जाएगी. यह प्रस्ताव पेश करते हुए सीएम बसवराज बोम्मई ने संजय राउत पर बेहद तल्ख बयान दिए.

'संजय राउत देशद्रोही, चीन के एजेंट', महाराष्ट्र-कर्नाटक विवाद पर प्रस्ताव रखते हुए बोले सीएम बोम्मई

कर्नाटक सीएम बसवराज बोम्मई. (फाइल फोटो)

गुरुवार (22 दिसंबर) को कर्नाटक विधानसभा में सीएम बसवराज बोम्मई ने एक प्रस्ताव एकमत से पास करवाया. इस प्रस्ताव को पेश करते हुए यह तय किया गया है कि कर्नाटक की एक ईंच भी जमीन महाराष्ट्र को नहीं दी जाएगी. इसका रिएक्शन महाराष्ट्र में विपक्षी नेता अजित पवार ने यह कह कर दिया कि महाराष्ट्र के हक की एक-एक ईंच जमीन हम लेकर रहेंगे. यह सब तब हुआ जब महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद का मामला सुप्रीम कोर्ट में है. इसके अलावा सीएम बोम्मई ने महाराष्ट्र से ठाकरे गुट के सांसद संजय राउत पर भी काफी तल्ख बयान दिया.

केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ मीटिंग कर यह कहा था कि इस बारे में जब तक सुप्रीम कोर्ट का फैसला नहीं आ जाता, तब तक दोनों ओर से बयानबाजी नहीं होनी चाहिए और ना ही एक दूसरे की वर्तमान सीमा की जमीन पर कोई दावा होना चाहिए. लेकिन केंद्रीय गृहमंत्री के इस निर्देश का कोई असर होता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है.

‘संजय राउत देश द्रोही, चीन के एजेंट; महाराष्ट्र के नेता यूं ही बोलते रहे तो…’

यह प्रस्ताव पेश करते हुए सीएम बोम्मई ने कहा, ‘संजय राउत चीन की तरह कर्नाटक में अंदर घुसने की भाषा बोल रहे हैं. संजय राउत देशद्रोही हैं. वे चीन के एजेंट हैं. मैं उन पर यह इल्जाम लगाता हूं. महाराष्ट्र के नेता अगर इसी तरह का बयान देते रहे उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. महाराष्ट्र के नेता यहां आकर 19 दिसंबर को काला दिवस मनाने की तैयारी कर रहे थे. हमने ऐसा नहीं होने दिया. महाराष्ट्र के जयंत पाटील और संजय राउत ने मेरे खिलाप घटिया स्तर की बयानबाजी की. उन्होंने कहा कि बोम्मई को मस्ती चढ़ी है. ऐसे बयानों से उनकी सोच कितनी छोटी है, नजर आता है.’

‘सीमाविवाद निपट चुका, जनता को बिना वजह भड़का रहे नेता’

आगे सीएम बोम्मई ने कहा,’महाराष्ट्र के मंत्री कर्नाटक का पानी रोकने की बात करते हैं. लेकिन हवा और पानी राष्ट्रीय संपत्ति है. इसे कोई भी नहीं रोक सकता है.हमारे लिए सीमाविवाद खत्म हो चुका है. 66 साल पहले महाजन आयोग ने सीमाविवाद को निपटा दिया है. तब सेही दोनों राज्यों की जनता शांति से रह रही है. महाराष्ट्र के नेता ही जानबूझ कर सीमाविवाद का मुद्दा उठाते हैं और लोगों को भड़काते हैं. इससे कानून व्यवस्था बिगड़ने के हालात पैदा हो सकते हैं.’

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *