Jyotiraditya Scindia Remark On Rahul Gandhi Yatra May Indicate Homecoming Says Congress | …तो क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की होगी ‘घर वापसी’? कांग्रेस प्रवक्ता के बयान से हलचल तेज

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा ने बुधवार सुबह महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में प्रवेश किया था. इस यात्रा के संदर्भ में सिंधिया ने कहा था कि मध्य प्रदेश में सभी का स्वागत है. बस इस बयान के बाद उनके फिर से कांग्रेस में वापस जाने की हलचल तेज हो गई.

...तो क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की होगी 'घर वापसी'? कांग्रेस प्रवक्ता के बयान से हलचल तेज

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया

Image Credit source: PTI

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा बुधवार को महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश में प्रवेश किया. इस यात्रा के एमपी में प्रवेश करने पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश में सभी का स्वागत है. सिंधिया के इस बयान के बाद कांग्रेस का कहना है कि उनकी (सिंधिया) की यह टिप्पणी उनके ‘घर वापसी’ का संकेत हो सकती है. पार्टी के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को यह बात कही.

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाली जा रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का स्वागत करने वाली केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की टिप्पणी उनके ‘घर वापसी’ का संकेत हो सकती है. कांग्रेस की इस यात्रा ने बुधवार सुबह महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में प्रवेश किया. इस यात्रा के संदर्भ में सिंधिया ने बुधवार को कहा था, ‘मध्य प्रदेश में सभी का स्वागत है.’ यहां बता दें कि सिंधिया ने मार्च 2020 में कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थामा था.

सिंधिया के घर वापसी के संकेत

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस समिति (एचपीसीसी) के पूर्व अध्यक्ष व कांग्रेस के प्रवक्ता कुलदीप सिंह राठौड़ ने कहा, ‘यह घर वापसी का संकेत हो सकता है.’ उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हाल में हुए हिमाचाल प्रदेश विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड मतदान को बदलाव का संकेत है तथा जनता भाजपा नीत राज्य सरकार से नाखुश है. उन्होंने दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाएगी.

कौन होगा हिमाचल का CM?

राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस द्वारा राज्य में कीमतों में वृद्धि, महंगाई और कुशासन आदि का मुद्दा उठाए जाने के बाद पिछले साल विधानसभा की तीन और लोकसभा की एक सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा को मिली हार के साथ ही उनकी हार की पटकथा लिख गई थी. यह पूछे जाने पर हिमाचल प्रदेश में पार्टी के सत्ता में आने पर मुख्यमंत्री कौन होगा, उन्होंने कहा कि राज्य का नया मुख्यमंत्री कौन होगा यह फैसला पार्टी के विधायक और पार्टी आला कमान करेगी.

वहीं विधायकों की खरीद-फरोख्त पर राठौड़ ने कहा, ‘ऐसा बिलकुल संभव है, लेकिन हमें अपने सदस्यों की वफादारी पर पूरा भरोसा है.’ उन्होंने पार्टी के नेताओं से अनुशासित रहने की अपील करते हुए कहा कि आगे तमाम चुनौतियां आने वाली हैं. (भाषा से इनपुट के साथ)

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *