Indore News husband was stopped for illegal relations then given triple talaq sister in law and mother in law also tortured | शौहर को अवैध संबंधों पर रोका-टोका तो दे दिया ‘तीन तलाक’, ननद और सास ने भी किया प्रताड़ित

पीड़िता का कहना है कि थाना प्रभारी के पास जब वह शिकायत लेकर गई तो तकरीबन 15 दिनों तक तो उसकी शिकायत पर सुनवाई ही नहीं हुई. जब सुनवाई हुई तो सिर्फ पति के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है.

शौहर को अवैध संबंधों पर रोका-टोका तो दे दिया 'तीन तलाक', ननद और सास ने भी किया प्रताड़ित

इंदौर पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर दर्ज किया मुकदमा.

Image Credit source: tv 9

मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. दरअसल, चंदन नगर थाना क्षेत्र में तीन तलाक से संबंधित एक मामला सामने आया है.वहीं, पीड़िता ने इस पूरे मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली के साथ ही पति पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए पूरे मामले में तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज करवाया है. इस दौरान पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज कर पूरे मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है.

दअसल, ये मामला इंदौर के चंदन नगर थाना क्षेत्र का है. जहां की रहने वाली पीड़िता ने अपने पति के ऊपर तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज करवाया है. पीड़िता ने इस दौरान पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी कई तरह के आरोप लगाते हुए यह बताया कि वह अपने पति और सास-ससुर की शिकायत लेकर चंदन नगर थाने पर तकरीबन 15 दिन पहले गई थी. लेकिन 15 दिन में पुलिस लगातार जांच पड़ताल की बात कह कर शिकायत को दर्ज नहीं कर रही थी.

जानिए क्या है मामला?

इसके बाद पीड़िता ने पूरे मामले की शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर कर दी. उसके बाद थाना प्रभारी ने उसे थाने पर बुलाकर पहले समझाइश दी और सीएम हेल्पलाइन के निराकरण की बात कही. लेकिन पीड़िता ने थाना प्रभारी को यह कहा कि पूरे मामले में जब तक तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज नहीं होता, तब तक सीएम हेल्पलाइन की शिकायत का निराकरण नहीं करेगी. उसके बाद इस पूरे मामले में पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने पति पर तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

हिंदू लड़की से संबंध होने के कारण घर में होता था विवाद

वहीं, पीड़िता का तो यह भी कहना है कि एक हिंदू लड़की से संबंध के कारण आए दिन उसके घर पर विवाद होता रहता था. इसी दौरान हिंदू लड़की के ससुर को उसके पति एवं हिंदू महिला के अवैध संबंधों की जानकारी लग गई, जिसके बाद ससुर ने आत्महत्या कर ली और सुसाइड नोट में पीड़िता के पति सहित अन्य लोगों का नाम का जिक्र कर दिया. पुलिस ने इस पूरे मामले में पति पर आत्महत्या को उकसाने की धाराओं में केस दर्ज कर जेल पहुंचा दिया. वहीं, कुछ साल जेल में गुजारने के बाद जब पति वापस से बाहर आया तो वह पीड़िता को अलग-अलग तरह से परेशान करने लगा और पत्नी को तलाक देने की बात करने लगा.

पीड़िता को मिली जान से मारने की धमकी

पीड़िता का कहना है कि उसका 13 साल का बच्चा है और वह पति को नहीं छोड़ सकती है, जिसके बाद पति ने पीड़िता को पूरे मामले में बातचीत करने के लिए सड़क पर बुलाया और सड़क पर ही पीड़िता को तीन बार तलाक देकर छोड़ दिया. वहीं, पीड़िता ने इस दौरान यह भी आरोप लगाए कि पति की बहन के द्वारा भी लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है. उसके भी कुछ अवैध संबंध है जिसकी जानकारी पीड़िता को थी.

इन्हीं सब बातों को लेकर वह लगातार परेशान कर रही है. साथ ही पति ननंद व सास-ससुर के द्वारा यह भी धमकी दी कि उनका वह कुछ भी नहीं बिगाड़ सकती है और वह कुछ ही घंटों में थाने से बाहर आ जाएंगे उनके पास करोड़ों रुपए की जमीन है .साथ ही पति ननद एवं सास ससुर के द्वारा पीड़िता को यह भी धमकी दी गई कि यदि वह उनकी शिकायत करेगी तो उसे जान से भी खत्म कर देंगे.

ये भी पढ़ें



पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने FIR की दर्ज

फ़िलहाल इस पूरे मामले में पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर पति के खिलाफ तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज कर पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है. इस मामले में पीड़िता ने कई गंभीर आरोप भी पति सहित अन्य लोगों पर लगाए हैं. तो वहीं पीड़िता ने थाना प्रभारी सहित पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी कई तरह के सवाल खड़े किए हैं. पीड़िता का कहना है कि थाना प्रभारी के पास जब वह शिकायत लेकर गई तो तकरीबन 15 दिनों तक तो उसकी शिकायत पर सुनवाई ही नहीं हुई. जब सुनवाई हुई तो सिर्फ पति के खिलाफ तीन तलाक की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *