Health Ministry issues norms for testing of international arrivals at airports | एयरपोर्ट पर सख्ती, विदेश से आने वाले यात्रियों का होगा कोरोना टेस्ट, गाइडलाइन जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज की बैठक में कहा कि कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. उन्होंने लोगों को सतर्क रहने और लापरवाही न बरतने की सलाह दी.

एयरपोर्ट पर सख्ती, विदेश से आने वाले यात्रियों का होगा कोरोना टेस्ट, गाइडलाइन जारी

एयरपोर्ट पर बढ़ेगी सख्ती

Image Credit source: social media

चीन सहित दुनिया के कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर केंद्र सरकार एक्टिव हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को इसको लेकर एक हाई लेवल मीटिंग की. इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया समेत कई नेता व अधिकारी मौजूद थे. पीएम मोदी की इस मीटिंग के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने हवाई अड्डों पर अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की टेस्टिंग के लिए गाइडलाइन जारी किया है.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय को स्वास्थ्य सचिव का यह पत्र पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग के बाद आया है. सरकार ने गुरुवार को कहा कि विदेश से आने वाले यात्रियों का 24 दिसंबर से रैंडमली कोरोना टेस्ट किया जाएगा. कई देशों में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय को इस संबंध में पत्र लिखा है.

2% यात्रियों का होगा कोरोना टेस्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय के पत्र में कहा गया है कि फ्लाइट में कुल जितने यात्री होंगे, अराइवल के बाद उनमें से दो फीसदी लोगों का रैंडम कोरोना टेस्ट किया जाएगा. लेटर में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि फ्लाइट में टेस्टिंग के लिए यात्रियों की पहचान संबंधित एयरलाइनों द्वारा की जाएगी. चिन्हित यात्री अपने सैंपल को एयरपोर्ट पर जमा कराएंगे. इसके बाद उन्हें एयरपोर्ट छोड़ने की अनुमति दी जाएगी.

टेस्ट में अगर कोई भी यात्री कोरोना से संक्रमित पाए जाते हैं तो रिपोर्ट की एक कॉपी आगे की कार्रवाई के लिए उनके संबंधित राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के साथ साझा की जाएगी. इसके अलावा पत्र में कहा गया है कि यात्रियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनके सैंपल को जीनोम टेस्टिंग के लिए भेजा जाना चाहिए.

कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई-PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज की बैठक में कहा कि कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. उन्होंने लोगों को सतर्क रहने और लापरवाही न बरतने की सलाह दी. पीएम मोदी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपनाए जा रहे निगरानी उपायों को मजबूत करें खासकर हवाई अड्डों पर. प्रधानमंत्री ने यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर बल दिया कि सभी स्तरों पर उपकरणों, प्रक्रियाओं और मानव संसाधनों के मामले में तैयारी उच्च स्तर की होनी चाहिए.

उन्होंने राज्यों को ऑक्सीजन सिलेंडर, पीएसए संयंत्रों, वेंटिलेटर और मानव संसाधन सहित अस्पताल के बुनियादी ढांचे से संबंधित कोविड विशिष्ट सुविधाओं का लेखाजोखा करने की सलाह दी. प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को परीक्षण और जीनोमिक अनुक्रमण प्रयासों को तेज करने का निर्देश दिया. वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया और नागरिक विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, गृह सचिव अजय कुमार भल्ला, नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी परमेश्वरन अय्यर सहित स्वास्थ्य व गृह मंत्रालय के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *