Electric Vehicles becoming customers favourite for these 5 reasons | इन 5 कारणों की वजह से Electric Vehicles बन रहे सबकी पसंद, सरकार भी कर रही फोकस

Electric Vehicles की तरफ ना केवल ग्राहकों का बल्कि सरकार का भी फोकस बढ़ता जा रहा है. हम इस लेख में आपको 5 ऐसे कारण बताने जा रहे हैं जिस वजह से इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ ग्राहकों की रुचि बढ़ रही है.

इन 5 कारणों की वजह से Electric Vehicles बन रहे सबकी पसंद, सरकार भी कर रही फोकस

Electric Cars: इस वजह से बढ़ रही EV के लिए लोगों की रुचि

Image Credit source: (सांकेतिक तस्वीर)

ये बात तो हम सभी बहुत अच्छे से जानते हैं कि जो गाड़ियां इलेक्ट्रिक नहीं है वह कॉर्बन छोड़ती हैं, कई ऐसे लोग हैं जो नहीं चाहते हैं कि उनकी कार की वजह से वातावरण में प्रदूषण फैले. यही वजह है कि Electric Vehicles की डिमांड दिनोदिन बढ़ती जा रही है. अगर आप भी एक नए इलेक्ट्रिक वाहन को खरीदना चाहते हैं तो हम आज इस लेख में आपको 5 ऐसे बड़े कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों इलेक्ट्रिक व्हीकल ग्राहकों की पसंद बनते जा रहे हैं और क्यों सरकार भी EV की तरफ अपना ध्यान केंद्रित कर रही है.

Electric Vehicles क्यों बन रहे ग्राहकों की पसंद? देखें ये 5 कारण

  1. आप और हम ये तो बहुत अच्छे से जानते हैं कि बढ़ते प्रदूषण स्तर के वजह से AQI अक्सर बिगड़ जाता है. प्रदूषण के स्तर को कम करने के मकसद से इलेक्ट्रिक वाहनों को लाया गया है, पहला कारण जिस वजह से इलेक्ट्रिक वाहनों को पसंद किया जा रहा है वह यह है कि ये वाहन वातावरण को प्रदूषण से बचाने में बहुत ही मददगार साबित होते हैं. अन्य गाड़ियों की तरह ये कारें कॉर्बन नहीं छोड़ती हैं जिस वजह से वातावरण में कॉर्बन और प्रदूषण नहीं फैलता है.
  2. हम सभी स्मार्टफोन्स यूज करते हैं और जैसे ही हम अपने फोन को अपग्रेड कर सकते हैं ठीक उसी तरह से इलेक्ट्रिक वाहन को भी फोन की तरह ही आसानी से अपग्रेड किया जा सकता है.
  3. हर कार मेंटेनेंस मांगती है फिर चाहे वो पेट्रोल हो या फिर डीजल या फिर सीएनजी मॉडल. बता दें कि ग्राहकों की रुचि Electric Vehicles के लिए इसीलिए भी बढ़ रही है क्योंकि इन गाड़ियों को मेंटेन करना और खरीदना (सब्सिडी) आसान है.
  4. बेशक इलेक्ट्रिक वाहनों में इंजन नहीं मिलता जो टॉर्क जेनरेट कर सके लेकिन आप शायद इस बात से अंजान हैं कि इलेक्ट्रिक वाहन तुरंत टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम हैं.
  5. पेट्रोल के बाद अब CNG की कीमतों में भी उछाल देखने को मिल रहा है जिस कारण सफर करना महंगा पड़ रहा है. यही वजह है कि अब लोग Electric Vehicles की तरफ रुख करते जा रहे हैं क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहनों से सफर करना सस्ता पड़ता है. उदाहरण: कुछ समय पहले ये जानकारी सामने आई थी कि टाटा मोटर्स के पास एक ऐसी कार है जिसके साथ 1 किलोमीटर की दूरी तय करने पर खर्च केवल 60 पैसे आता है. आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि इस कार का नाम Tiago EV है.

EV के पीछे इस्तेमाल हुई है ये टेक्नोलॉजी

क्या आप जानते हैं कि इलेक्ट्रिक वाहनों में इलेक्ट्रिक मोटर जो है वह Axle में मौजूद होती है? अगर जवाब है नहीं, तो आइए आपको इस बात के बारे में जानकारी देते हैं. बता दें कि इन वाहनों में एक मोटर फ्रंट Axle और दूसरी मोटर बैक Axle में मौजूद होती है.

EV वाहनों में इन चीजों को करना पड़ता है मेंटेन

इन वाहनों में इंजन नहीं होता तो ऐसे में इंजन ऑयल चेंज करने का खर्च नहीं है, ना ही बेल्ट और ना ही चेन है जिसे सर्विस करवाना पड़े और ना ही इन वाहनों में ट्रांसमिशन फ्लूइड होता है जिसे चेंज कराने जाना पड़े. अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर वो कौन-कौन सी चीजें हैं जिन्हें मेंटेन करने की जरूत पड़ती है. यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि बैटरी मेंटेनेंस, ब्रैक, टायर्स और सर्विसिंग ही ऐसी चीजें हैं जिन्हें मेंटेन करने की जरूरत होती है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *