DCGI approval for Bharat Biotech’s nasal vaccine iNCOVACC, more effective against Covid | भारत बायोटेक के नेजल वैक्सीन को DCGI अप्रूवल, कोविड के खिलाफ ज्यादा असरदार

iNCOVACC भारत की पहली नेजल वैक्सीन है, जिसके इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है. यह असल में एक बूस्टर वैक्सीन है. फिलहाल इसके इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी मिली है.

भारत बायोटेक के नेजल वैक्सीन को DCGI अप्रूवल, कोविड के खिलाफ ज्यादा असरदार

फोटोः कोरोना वैक्सीन.

Image Credit source: फाइल फोटो

भारत बायोटेक की कोविड नेजल वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को हरी झंडी मिल गई है. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को नेजल वैक्सीन iNCOVACC के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी. किसी भी वैक्सीन के इस्तेमाल के लिए डीसीजीआई से अप्रूवल लेना होता, जिसके बाद ही वैक्सीन का इस्तेमाल किया जाता है. हैदराबाद स्थित वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने बताया कि नेजल वैक्सीन ज्यादा प्रभावी हो सकती है.

iNCOVACC भारत की पहली नेजल वैक्सीन है, जिसके इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है. यह असल में एक बूस्टर वैक्सीन है. फिलहाल इसके इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है. यह वैक्सीन उन लोगों को लगाई जाएगी जो कोविशील्ड और कोवैक्सीन के दोनों डोज ले लिए हैं. यह वैक्सीन का तीसरा और बूस्टर डोज होगा.

नीडिल फ्री है नेजल कोविड वैक्सीन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंट्रानेजल इम्युनाइजेशन नाक में इम्यून रिस्पॉन्स क्रिएट करता है, जो वायरस का एंट्री पॉइंट है. भारत में कोरोना के खिलाफ बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन अभियान चलाया गया और देश की अधिकतर आबादी को वैक्सीन के दोनों डोज लगाए जा चुके हैं. देश की बड़ी आबादी को तीसरी डोज भी लगाई जा रही है. इसी कड़ी में भारत बायोटेक ने नेजल वैक्सीन बनाई है, जिसका ट्रायल पूरा हो चुका है. बूस्टर डोज कोरोना वायरस डिजीज, इन्फेक्शन और ट्रांसमिशन को रोकने में मदद कर सकता है. ऐसे तो वैक्सीन के दोनों डोज कोविड को रोक पाने में सक्षम है, लेकिन बूस्टर डोज के बाद कोविड के खिलाफ सुरक्षा और बढ़ जाती है. इस साल 10 अप्रैल से देशभर में बूस्टर डोज भी लगाए जा रहे हैं.

DCGI ने दिया इमरजेंसी यूज अथॉराजेशन

रिपोर्ट के मुताबिक नेजल वैक्सीन वे लोग ले सकते हैं, जिन्होंने 6 महीने के अंतराल पर वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है. चूंकी यह एक नेजल वैक्सीन है, इसलिए यह नीडल फ्री वैक्सीन है, इसे लगाना भी आसान है. डीसीजीआई ने 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए 6 सितंबर को वैक्सीन के रिस्ट्रिक्टेड इस्तेमाल को मंजूरी दी थी लेकिन अब डीसीजीआई ने इस नेजल वैक्सीन को इमरजेंसी यूज अथॉराजेशन दे दी है. भारत बायोटेक ने वैक्सीन के मार्केट अथॉराइजेशन के लिए भी अप्लाई किया है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *