Daily Panchang 25 November 2022 Friday Aaj Ka Panchang Shubh muhurat Nakshatra Tithi Rahukal in Hindi | Aaj Ka Panchang: कब होगा चंद्र दर्शन और किस समय लगेगा राहुकाल, पढ़ें 25 नवंबर 2022 का पंचांग

मार्गशीर्ष मास (Margshirsha Maas 2022) के शुक्लपक्ष की द्वितीया (Dwitiya) तिथि पर किसी काम को करने के लिए कौन सा समय शुभ और कौन सा समय अशुभ रहेगा, जानने के लिए जरूर देखें 25 नवंबर 2022, शुक्रवार का पंचांग (Friday Panchang).

Aaj ka Panchang 25 November 2022:हिंदू धर्म में किसी भी कार्य को शुभ दिन, शुभ तिथि, शुभ मुहूर्त आदि को देखकर किया जाता है. इन सभी चीजों के बारे में पता लगाने के लिए पंचांग(Panchang)की आवश्यकता पड़ती है. जिसके माध्यम से आप आने वाले दिनों के शुभ एवं अशुभ समय के साथ सूर्योदय, सूर्यास्त, चन्द्रोदय, चन्द्रास्त, ग्रह, नक्षत्र आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हें. आइए पंचांग के पांच अंगों – तिथि, नक्षत्र, वार, योग एवं करण के साथ राहुकाल, दिशाशूल(Dishashool), भद्रा(Bhadra), पंचक(Panchank), प्रमुख पर्व आदि की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करते हैं.

कब लगेगा राहुकाल

हिंदू धर्म में प्रत्येक दिन लगने वाले राहुकाल को बेहद अशुभ माना गया है। ज्योतिष के अनुसार राहुकाल के समय किए जाने वाले काम में असफलता या अड़चन आने की आशंका बनी रहती है। पंचांग के अनुसार आज राहुकाल प्रात:काल 10:49 से दोपहर 12:08 बजे तक ऐसे में आज किसी भी विशेष कार्य करते समय राहुकाल का विशेष ख्याल रखें।

किधर रहेगा दिशाशूल

हिंदू धर्म में राहुकाल की तरह हर दिन किसी दिशा विशेष में रहने वाले दिशाशूल का भी ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। पचांग के अनुसार जिस दिशाशूल के चलते काम के असफल होने की आशंका बनी रहती है वह शुक्रवार के दिन पश्चिम दिशा में रहेगा। ऐसे में आज शुक्रवार को पश्चिम दिशा में जाने से बचें। यदि आज पश्चिम की ओर जाना बहुत जरूरी हो तो व्यक्ति को जौ खाकर यात्रा करनी चाहिए.

25 नवंबर 2022 का पंचांग

(देश की राजधानी दिल्ली के समय पर आधारित)

विक्रम संवत – 2079, राक्षस

शक सम्वत – 1944, शुभकृत्

ये भी पढ़ें



चंद्र दर्शन का समय सायंकाल 05:24 से 06:31 बजे तक
दिन (Day) शुक्रवार
अयन (Ayana) दक्षिणायन
ऋतु (Ritu) शरद
मास (Month) मार्गशीर्ष मास
पक्ष (Paksha) शुक्ल पक्ष
तिथि (Tithi) द्वितीया सायंकाल 10:34 बजे तक तदुपरांत तृतीया
नक्षत्र (Nakshatra) ज्येष्ठा सायंकाल 05:21 बजे तक तदुपरांत मूल
योग (Yoga) सुकर्मा प्रात:काल 08:44 बजे तक तदुपरांत धृति
करण (Karana) बालव दोपहर 12:07 बजे तक तदुपरांत कौलव
सूर्योदय (Sunrise) प्रात:काल 06:52 बजे
सूर्यास्त (Sunset) सायंकाल 05:24 बजे
चंद्रमा (Moon) वृश्चिक राशि में सायंकाल 05:21 बजे तक तदुपरांत धनु राशि में
राहु काल (Rahu Kaal Ka Samay) प्रात:काल 10:49 से दोपहर 12:08 बजे तक
यमगण्ड (Yamganada) दोपहर 02:46 से सायंकाल 04:05 बजे तक
गुलिक (Gulik) प्रात:काल 08:11 से 09:30 बजे तक
अभिजीत मुहूर्त (Abhijit Muhurt) प्रात:काल 11:47 से दोपहर 12:29 बजे तक
दिशाशूल (Disha Shool) पश्चिम दिशा में
भद्रा (Bhadra)
पंचक (Pnachak)

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *