Ashok gehlot on sachin pilot says can not make him chief minister he betrayed party pilot is a traitor | सचिन पायलट गद्दार, अमित शाह गिराना चाहते थे सरकार, अशोक गहलोत के 10 वार

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने लेटेस्ट इंटरव्यू में सचिन पायलट पर जमकर भड़ास निकाली है. उन्होंने पायलट को गद्दार कहा है. गहलोत ने कहा है कि पायलट ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार गिराने का प्रयास किया था.

सचिन पायलट गद्दार, अमित शाह गिराना चाहते थे सरकार, अशोक गहलोत के 10 वार

सचिन पायलट को लेकर सख्त बने हुए हैं अशोक गहलोत

राजस्थान में कांग्रेस के अंदर घमामान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर बड़ा हमला किया है. उन्होंने पायलट को गद्दार कहा है. गहलोत ने यहां तक कहा कि एक गद्दार मुख्यमंत्री नहीं हो सकता है. उन्होंने ये भी कहा कि राजस्थान में उतनी बड़ी बात नहीं है, मीडिया ने इसे कुछ ज्यादा बढ़ाया है. हर राज्य में कुछ नोंक-झोंक होती है. यहां हमेशा दिखाया जाता है कि राजस्थान में दो गुट हैं.

हाल में राजस्थान में जो कुछ हुआ उस पर गहलोत ने NDTV को दिए इंटरव्यू में कहा कि वो विद्रोह नहीं था. विद्रोह पहले था, जब कुछ लोग 34 दिन होटल में रुके थे. अभी 90 लोग जो जमा हुए, उन्होंने उस समय सरकार को बचाने में सहयोग किया था. उनके बिना सरकार नहीं बचती.

ये भी पढ़ें



यहां पढ़ें गहलोत की 10 बड़ी बातें

  1. हाल में पार्टी हाई कमान के खिलाफ विधायकों के जाने पर गहलोत ने कहा कि ऐसा एक अफवाह की वजह से हुआ. ये बात फैलाई गई की सचिन पायलट मुख्यमंत्री बना दिए जाएंगे. खुद पायलट ने भी ये बात फैलाई. कहा गया कि ऑर्ब्जवर आएंगे और एक लाइन का प्रस्ताव पास होगा और अगले दिन पायलट शपथ लेंगे. इसी वजह से सब विधायक एक हो गए.
  2. गहलोत ने पायलट पर सरकार गिराने का आरोप लगाया और कहा कि इसमें अमित शाह भी शामिल थे. धर्मेंद्र प्रधान भी इसमें शामिल थे और सबकी दिल्ली में मीटिंग हो रही थी. मानेसर में 34 दिन हमारे विधायकों को रखा गया.
  3. पायलट पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने सरकार गिराने की कोशिश की. वो डिप्टी सीएम भी थे. ऐसा इतिहास में कभी नहीं हुआ होगा कि पार्टी अध्यक्ष ही अपनी ही सरकार गिराए और विपक्ष से मिल जाए.
  4. हाई कमान द्वारा पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने की खबरों पर गहलोत ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बना सकते. जिसके पास 10 विधायक नहीं हैं, जिसने विद्रोह किया, जिसे गद्दार नाम दिया गया. जिसने पार्टी से गद्दारी की. उसे कैसे स्वीकार किया जाएगा.
  5. बीजेपी के साथ पायलट के संबंधों पर उन्होंने कहा कि मेरे पास सबूत हैं. बीजेपी ने 10 करोड़ रुपए बांटे. किसी को 5 और किसी को 10 करोड़ मिले. बीजेपी के दिल्ली दफ्तर से पैसे उठाए गए.
  6. इतना करने के बाद भी पायलट को बाहर नहीं किया गया, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि पहली बार किसी पार्टी अध्यक्ष को बर्खास्त किया गया. बर्खास्त नहीं किया जाता, इस्तीफा मांगा जाता है, लेकिन उन्हें बर्खास्त क्यों किया गया? मैंने मुख्यमंत्री रहते हुए उपमुख्यमंत्री पद से हटाया? ये नौबत क्यों आई.
  7. गहलोत ने कहा कि इससे विधायकों में काफी गुस्सा है, वो (पायलट) हाई कमान से माफी मांगते. उन्हें राजस्थान के लोगों से माफी मांगनी थी. विधायकों से माफी मांगनी थी. वो माफी मांग लेते तो मुझे माफी मांगने की जरूरत नहीं पड़ती. अगर पायलट ने माफी मांगी होती तो उनके खिलाफ बगावत नहीं होती. 90 विधायकों की बगावत पायलट के खिलाफ थी और उसके बाद हमारे कई मंत्रियों ने भी कहा था कि गद्दार को स्वीकार नहीं कर सकते.
  8. उन्होंने कहा कि मैं भी इस बात को मानता हूं. हमारे 102 विधायकों में से किसी को भी मुख्यमंत्री बना दीजिए, कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन हम उस इंसान को कैसे स्वीकार कर सकते हैं जिसने धोखा दिया. पायलट को कोई स्वीकार नहीं करेगा.
  9. मुख्यमंत्री ने कहा कि माहौल ऐसा है कि लगता है हम सरकार बनाने जा रहे हैं. हमारी कई योजनाएं बेहतरीन हैं. हर कोई खुश है. मुझे लगता है कि यह पहली बार है, या लंबे समय के बाद ऐसा हुआ है कि राजस्थान में सत्ता विरोधी लहर नहीं है.
  10. उन्होंने कहा कि सचिन पायलट का यह दावा करना गलत है कि 2018 में मुख्यमंत्री बदलने का वादा किया गया था. आलाकमान ने मुझे बदलाव का कोई संकेत नहीं दिया है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *