Arvind Kejriwal Says, Amit Shah Got VIP Treatment In Jail, Not Satyendar Jain – अमित शाह को जेल में VIP ट्रीटमेंट मिला, सत्‍येंद्र जैन को नहीं : NDTV टाउनहॉल में केजरीवाल

नई दिल्‍ली :

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल, जेल में बंद अपने मंत्री सत्‍येंद्र जैन के बचाव में खुलकर सामने आए. गौरतलब है कि बीजेपी लगातार जेल में सत्‍येंद्र जैन को विशेष सुविधाएं (वीआईपी ट्रीटमेंट) हासिल होने का आरोप लगाती रही है. केजरीवाल ने गुरुार को NDTV टाउनहाल में कहा, “जेल में सत्‍येंद्र जैन को कोई वीवीआईपी सुविधाएं नहीं मिल रही हैं. उन्‍हें जो कुछ भी मिला है, जेल मेन्‍युअल के अनुसार मिला है. इंसान रोटी खा रहा है तो आप पूछ रहे हैं, वह रोटी क्‍यों खा रहा है. यह किस तरह की राजनीति है. ” 

यह भी पढ़ें

गौरतलब है कि गुजरात और दिल्‍ली में नगरीय निकाय चुनाव (MCD)के पहले बीजेपी नेता, सत्‍येंद्र जैन के जेल के सीसीटीवी वीडियो पोस्‍ट करके उन पर और आम आदमी पार्टी पर निशाना साध रहे हैं. इन वीडियो में जैन को खाना खाते और मालिश करते हुए देखा जा सकता है. दूसरी ओर, आम आदमी पार्टी ने कहा है कि यह मालिश, जैन के फिजियोथैरेपी ट्रीटमेंट का हिस्‍सा है और खाने की डॉक्‍टर की ओर से मंजूरी मिली है. केजरीवाल ने कहा, “यदि आप जेल में वीआईपी कल्‍चर की बात करते हैं तो यह देखिए जब अमित शाह जब जेल में थे, तब सीबीआई की चार्जशीट में क्‍या कहा गया था. उनके लिए (शाह के) डीलक्‍स जेल बनाई गई थी. सत्‍येंद्र जैन के मामले में कोर्ट ने वीवीआईपी कल्‍चर के बारे में कुछ नहीं कहा है. वीवीआईपी कल्‍चर क्‍या हैं, यह कोर्ट यह करेगा न कि आप या बीजेपी.” 

गौरतलब है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को दिल्ली सरकार के मंत्री के तौर पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सत्येंद्र जैन के जेल में बने रहने को ‘शर्मनाक’ बताया और कहा कि इस तरह की चीजें सार्वजनिक जीवन में अभूतपूर्व हैं. तिहाड़ जेल में बंद जैन के कुछ वीडियो सामने आये हैं, जिनमें वह अपनी कोठरी में कच्ची सब्जियां और फल खाते हुए दिख रहे हैं. अन्य वीडियो में उन्हें मालिश कराते और अन्य विशेष सुविधाएं पाते भी देखा जा सकता है. गृह मंत्री ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘मैं भी जेल गया था और मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. बाद में, हमने अदालत में लड़ाई लड़ी और अदालत ने कहा कि यह एक राजनीतिक साजिश थी और मामला फर्जी है. यदि आपके साथ अन्याय हुआ है तो कानून का सहारा लीजिए, या अदालत का रुख करिए। आप इतनी बेशर्मी के साथ कार्य नहीं कर सकते.”

ये भी पढ़ें- 

       

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *