America and britain to send gray eagle and brimstone missiles to ukraine au538 | बाइडेन का ग्रे इगल और सुनक का ब्रिमस्टोन…दोनों मिलकर रूसी सेना पर मचाएंगे हाहाकार

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के बार बार मेल के बाद अमेरिका और ब्रिटेन मिलकर यूक्रेन को अनमैंड एरियल ह्वीकल ग्रे ईगल और ब्रिमस्टोइन मिसाइल दे रहे है जिससे यूक्रेन को जंग में बढ़त मिल सकती है.

बाइडेन का ग्रे इगल और सुनक का ब्रिमस्टोन...दोनों मिलकर रूसी सेना पर मचाएंगे हाहाकार

सांकेतिक तस्वीर.

यूक्रेन में जारी जंग में हथियारों को लेकर बहुत सारे एक्सपेरिमेंट भी चल रहे हैं. इस बीच वॉर फ्रंट पर अब एक ऐसा हथियार उतरने वाला है जो सबसे विनाशक और सबसे हाईटेक है. यह हथियार है अनमैंड एरियल वहीकल ग्रे ईगल. अनमैंड एरियल ह्वीकल ग्रे ईगल रडार की पहुंच से बाहर है और मिसाइलों से सटीक अटैक करता है. यह अमेरिकी सेना के बेड़े में सबसे घातक हथियारो की गिनती में शामिल है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को अनमैंड एरियल ह्वीकल ग्रे ईगल यूक्रेन को देने के लिए कई बार मेल लिखा था. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो राष्ट्रपति बाइडेन ने यह घातक हथियार देने के लिए साफ मना कर दिया था. बाइडेन ने अपने जवाब में कहा था कि इतना विनाशक हथियार रूस के खिलाफ उतारने का मतलब होगा रूस की नाराजगी और बढ़ाना, युद्ध में परमाणु हमले की आशंका को और गंभीर करना. लेकिन फिर अमेरिका ने अपनी स्ट्रैटेजी बदल दी और अब अनमैंड एरियल ह्वीकल ग्रे ईगल को यूक्रेन को देने का फैसला किया है.

अमेरिका से ईगल और ब्रिटेन से मिलेगा ब्रिमस्टोइन

इस बीच अमेरिका के साथ और ब्रिटेन ने भी यूक्रेन को अपनी मिसाइलें देने की पेशकश की है. ऋषि सुनक और बाइडेन ने अपने ताकतवर और घातक हथियारों की लिस्ट से 2 ऐसे वेपन्स को चुना है…जो यूक्रेन के टैंक, ट्रक, आर्टिली, गोदाम, बंकर को तबाह कर देंगे. अमेरिका के अनमैंड एरियल ह्वीकल ग्रे ईगल के अलावे ब्रिटेन अपनी ब्रिमस्टोन मिसाइल यूक्रेन को देगा. ब्रिमस्टोन मिसाइलों की खेप ब्रिटेन ने पहुंचा दी है…जबकि अमेरिका ईगल ड्रोन की सप्लाई शुरु करने वाला है.

ये भी पढ़ें



क्या है खासियत

ग्रे ईगल से यूक्रेन रूस के तमाम हथियार के डिपो, आर्टिलरी की पोजीशन को तबाह कर सकता है. इस ड्रोन की मिसाइलों से हथियारों के गोदाम और कमांड सेंटर्स को बर्बाद किया जा सकता है . सिर्फ HIMARS के बल पर अगर यूक्रेन खेरसोन और नीपर नदी के किनारे से रशियन सैनिकों को दूर जाने के लिए मजबूर कर सकता है तो अंदाजा लगाइए ब्रिमस्टोन और ग्रे ईगल की ताकत हासिल करने के बाद यूक्रेन कैसा कहर बरपाएगा .

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *