Amazon ask Indian employee to resign voluntarily | ‘ बेहतर फायदे चाहिए तो खुद दे दें इस्तीफा’, छंटनी से पहले Amazon का भारतीय कर्मियों को ऑफर

अमजेन ने करीब 6 प्रतिशत वर्क फोर्स की छंटनी के लिए काम के प्रदर्शन के आधार पर रीव्यू शुरू किया है. इसके तहत कंपनी करीब 10 हजार कर्मचारियों को निकालने की योजना पर काम कर रही है

' बेहतर फायदे चाहिए तो खुद दे दें इस्तीफा', छंटनी से पहले Amazon का भारतीय कर्मियों को ऑफर

भारतीय कर्मचारियों को मिला इस्तीफे का ऑफर

Image Credit source: AP

ई-कॉमर्स की सेक्टर की दिग्गज कंपनी अमेजन ने हाल ही में 10 हजार लोगों को निकलाने की कवायद शुरू की है. इसके लिए कर्मचारियों के प्रदर्शन का रीव्यू हो रहा है और सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया जाएगा. कंपनी हर साल ऐसे कर्मचारियों को प्रदर्शन के आधार पर निकालती रही है. हालांकि इस बार ये आंकड़ा कंपनी के इतिहास में छंटनी का सबसे बड़ा आंकड़ा होगा. ज्यादा लोगों की छंटनी से किसी विवाद की आशंका को कम करने के लिए अमेजन ने कर्मचारियों को एक नया ऑफर भी देना शुरू कर दिया. इसके मुताबिक अगर वो खुद कंपनी से इस्तीफा दे देते हैं तो उन्हें कंपनी छोड़ने पर कई तरह के बेनेफिट्स मिलेंगे. मीडिया में आई खबरों के अनुसार कई भारतीय कर्मचारियों को वालन्टरी सेपरेशन प्रोग्राम यानि स्वैच्छिक इस्तीफे के लिए ऑफर मिला है.

क्या है ये वीएसपी प्रोग्राम

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत में काम कर रहे कुछ कर्मचारी जो एल1 से एल7 बैंड में काम कर रहे हैं को वालन्टरी सेपरेशन प्रोग्राम यानि वीएसपी के लिए ऑफर मिला है. इसके मुताबिक अगर कोई कर्मचारी वीएसपी को स्वीकार करता है तो उन्हें मॉनिटिरी बेनेफिट्स हासिल होंगे. हालांकि इंटरनल डॉक्यूमेंट के मुताबिक कर्मचारियों को इस ऑफर पर 30 नवंबर शाम साढ़े बजे तक हस्ताक्षर करने होंगे अगर वो ऐसा नहीं करते तो उन्हें रीव्यू में शामिल किया जाएगा.

इस ऑफर के तहत वीएसपी को स्वीकार करने वाले भारतीय कर्मचारियों को 22 हफ्ते की बेसिक पे, और हर 6 महीने की सेवा के लिए एक हफ्ते की बेसिक पे मिलेगी. जिसकी सीमा 20 हफ्ते की होगी. इसके साथ ही कर्मचारियों को 6 महीने का इंश्योरेंस बेनेफिट भी मिलेगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक रीव्यू में खराब प्रदर्शन के आधार पर हटाए जाने पर कंपनी के पहले से तय नियमों के आधार पर ही भुगतान किया जाता है जो की वीएसपी के बेनेफिट्स से काफी कम होगा. संभावना है कि इस तरह कंपनी कई लोगों को इस्तीफा दिला सकता है और उसको पहले के मुकाबले कम लोगों की छंटनी करने पड़ेगी, जिससे उसकी इमेज भी बेहतर हो सकती है.

ये भी पढ़ें



सरकार की सख्ती का असर ?

दरअसल लोगों को जबरन नौकरी से निकालने के मामले में सरकार सख्त हो गई है. श्रम मंत्रालय ने इस मामले में अमेजन इंडिया को डिप्टी चीफ लेबर कमिश्नर बैंग्लुरू के सामने पेश होने के लिए कहा गया है. इस मामले में एक यूनियन ने याचिका दायर की है. संभावना है कि विवाद टालने के लिए है अमेजन ने इस प्रोग्राम को ऑफर किया है जिससे कर्मचारी फायदों के साथ स्वैच्छिक इस्तीफे का चुनाव करें. कंपनी दरअसल करीब 10 हजार लोगों को निकालने जा रही है. ये कंपनी के इतिहास की सबसे बड़ी छंटनी होगी

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *