Air India Express New CEO Aloke Singh Will Handle Tata Group Low Fare Flight Service After Merger With AirAsia | Air India Express, AirAsia India होंगी एक, नए साल में नई कंपनी का नया होगा सरताज

Air India Express Merger: अब ये बात पूरी तरह साफ हो गई है कि टाटा समूह अपनी सस्ती विमान सेवाओं को एक ही ब्रांड एयर इंडिया एक्सप्रेस के अंडर ला रहा है. उम्मीद है कि जनवरी में इसका एयरएशिया इंडिया के साथ विलय हो जाएगा. वहीं नई बनने वाली इस कंपनी को नया सरताज भी मिलने जा रहा है. पढ़ें ये खबर…

Air India Express, AirAsia India होंगी एक, नए साल में नई कंपनी का नया होगा सरताज

टाटा समूह अपनी सस्ती विमान सेवाओं को एक ही ब्रांड एयर इंडिया एक्सप्रेस के अंडर ला रहा है. वहीं नई बनने वाली इस कंपनी को नया सरताज भी मिलने जा रहा है.

Image Credit source: Twitter

टाटा ग्रुप के हाथ में जाते ही Air India के दिन बदलने शुरू हो गए थे. अब नए साल में और बड़े बदलाव होने जा रहे हैं. एक तरफ जहां एयर इंडिया और एयर विस्तारा का विलय हो रहा है. वहीं दूसरी तरफ टाटा समूह ने अपनी सस्ती एयरलाइंस सर्विस को भी अब एक करने का मन बना लिया है. एयर इंडिया एक्सप्रेस और एयरएशिया इंडिया के विलय के बाद बनने वाली नई एयरलाइंस को नए साल में नया सरताज (CEO) भी मिलने जा रहा है.

टाटा समूह की ओर से जानकारी दी गई है कि विलय के बाद बनने वाली नई एयर इंडिया एक्सप्रेस के सीईओ आलोक सिंह होंगे. वह एक जनवरी से नई कंपनी का चार्ज संभाल लेंगे. इससे पहले वह ओमान एयर और एयर इंडिया दोनों में ही बड़ी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं.

नवंबर में हुआ सौदा पूरा

इसी साल नवंबर में एयरएशिया इंडिया में मलेशिया की कंपनी एयरएशिया एयरलाइंस ने अपनी बची हुई 16.33 प्रतिशत की हिस्सेदारी टाटा के स्वामित्व वाली एयर इंडिया एक्सप्रेस को बेच दी. इससे पहले साल 2020 में टाटा समूह ने एयरएशिया इंडिया में एयरएशिया की 32.7 प्रतिशत हिस्सेदारी को भी खरीद लिया था.

इस तरह ज्वॉइंट वेंचर में बनी ये एयरलाइंस अब पूरी तरह से टाटा समूह की है, और टाटा समूह इसे अपनी दूसरी सस्ती फ्लाइट सर्विस देने वाली कंपनी एयर इंडिया एक्सप्रेस के साथ विलय करने की प्रक्रिया में है.

होगा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विस्तार

विलय के साथ ही एयर इंडिया एक्सप्रेस अपने नेटवर्क का विस्तार भी करने वाली है. कंपनी 150 बोइंग 737 मैक्स विमानों के ऑर्डर को फाइनल करने के दौर में है. अभी दोनों कंपनियां अलग-अलग कंपनी के तौर पर ऑपरेट कर रही हैं. इनके विलय को लेकर बची हुई रेग्युलेटरी औपचारिकताएं 2023 के अंत तक पूरी हो जाएंगी. पर तब तक दोनों कंपनी के सीईओ पद की जिम्मेदारी एक ही व्यक्ति के पास रहेगी.

ये भी पढ़ें

वहीं एयरएशिया इंडिया के मौजूदा सीईओ सुनील भास्करन एक ट्रेनिंग एकेडमी के प्रमुख की जिम्मेदारी संभालेंगे, जिसका निर्माण टाटा समूह करने जा रहा है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *