After the cyber attack in Delhi AIIMS work affected due to which the patients suffered a lot | AIIMS दिल्ली में इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बंद, सिर्फ मोबाइल डेटा का कर सकेंगे इस्तेमाल

एम्स में गुरूवार दूसरे दिन भी स्मार्ट लैब, बिलिंग, जांच रिपोर्ट और अपॉइंटमेंट का काम प्रभावित रहा है. जिस कारण कई मरीजों को जांच रिपोर्ट और अपॉइंटमेंट ही नहीं मिली, और उन्हे बिना डॉक्टर को दिखाए वापस घर जाना पड़ा है.

AIIMS दिल्ली में इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बंद, सिर्फ मोबाइल डेटा का कर सकेंगे इस्तेमाल

दिल्ली एम्स

Image Credit source: PTI

दिल्ली एम्स में साइबर अटैक के बाद सर्वर डाउन है. वहीं, दिल्ली एम्स में इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद है, केवल मोबाइल इंटरनेट काम कर रहा है, ऐसे में एम्स में गुरुवार दूसरे दिन भी स्मार्ट लैब, बिलिंग, जांच रिपोर्ट और अपॉइंटमेंट का काम प्रभावित रहा है. अभी हॉस्पिटल में मैन्युअल मोड से काम हो रहा है, लेकिन उसकी गति बहुत धीमी है. राजकुमारी अमृत कौर ओपीडी के बाहर मरीजों की लंबी लाइन लगी है. कई मरीजों को जांच रिपोर्ट और अपॉइंटमेंट न मिलने की वजह से वो दर-दर भटकने को मजबूर हो गए हैं.

दरअसल बुधवार को हुए रैमसमवेयर हमले के बाद साइबर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम सब कुछ रिकवर करने और ठीक करने में लगी है, लेकिन अभी अस्पताल में सेवाएं प्रभावित हैं. एक तीमारदार ने बताया कि वो मरीज की आंखों की जांच कराने आए थे. दो घन्टे में उनका पर्चा बन पाया. इसके बाद जब जांच कराने के लिए गए तो कह दिया गया है कि एक हफ़्ते बाद आना. अभी सर्वर डाउन है, अभी जांच नहीं हो पाएगी.

किसी को अपॉइंटमेंट नहीं मिली तो कोई बिना जांच रिपोर्ट लिए ही वापस लौटा

देश के कई राज्यों से एम्स में इलाज कराने आए मरीज सर्वर डाउन के कारण बहुत परेशान हो रहे हैं. कई ऐसे मरीज हैं जो लंबा सफर कर अस्पताल इलाज के लिए पहुंचे तो उन्हे पता चला कि सर्वर डाउन है तो इस कारण पर्चा ही नहीं बन पाएगा. कई तो डॉक्टरों को बिना दिखाए ही वापस लौट गए. बिहार से आए सतीश कुमार को सर्वर डाउन होने की वजह से अपॉइंटमेंट ही नहीं मिली है. अब इन्हें डॉक्टर को बिना दिखाए ही वापस लौटना पड़ेगा।

संगम विहार से अपने बुजुर्ग पिता को लेकर एम्स पहुंची बेटी को भी वापस लौटना पड़ा है, क्योंकि सर्वर डाउन होने की वजह से मरीजों की जांच रिपोर्ट भी नहीं मिल पा रही है.

ये भी पढ़ें



सर्वर हैक ने बढ़ाई मरीजों की दिक्कत

एम्स के अधिकारियों का कहना है कि वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर मैनुअल तरीके से मरीजों के सैंपल लेने की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा स्मार्ट लैब की मशीनें भी शुरू की गई हैं, लेकिन अभी क्षमता से कम ही जांच हो पाएगा, क्योंकि सर्वर हैक होने के कारण जांच की रिपोर्ट ऑनलाइन उपलब्ध नहीं हो पा रही है. इस कारण मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

techo2life

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *